ItihaasakGurudwaras.com A Journey To Historical Gurudwara Sahibs

ਪੰਜਾਬੀ     ENGLISH     हिन्दी   

गुरुदवारा श्री शेर शिकार साहिब राजस्थान, जिला धोलपुर के गांव मचकुंड मे सथित है । श्री गुरु हरगोबिंद साहिब जी ओर बादशाह जहांगीर ग्वालियर को जाते हुए गांव भामीपुतर में रुके । गांव के लोगों ने जहांगीर को बताया के यहां एक खूंखार शेर रहता है ओर बादशाह को बिनती की के उसे मार के उनकॊ शेर से बचाए । जब गुरु साहिब ओर बादशाह जहांगीर यहां सैनिकॊं के साथ पंहुचे शेर ने बादशाह ओर सैनिकों पर हमला कर दिया । सैनिकों ने बहुत तीर व गोलिआं चलाई पर शेर को नहीं लगी । यह देख कर बादशाह घबरा गिया ओर मदद के लिए चिलाया । इतने में गुरू साहिब जहांगीर ओर शेर के बीच आ गये ओर बोले " आ काले यमन पहिले तुं वार कर ले कहीं तेरे मन में इच्छा बाकी न रहि जाये " शेर ने पुरे जोर से गुरु साहिब पर हमला किया । गुरु साहिब ने ढाल अगे करके शेर के पिछ्ले हिसे पर वार किया ओर एक ही वार में उसके दो हिसे कर दिये । बादशाह को इस के बाद अहिसास हुआ के गुरू साहिब के पाइस न सिर्फ़ रुहानी ज्ञान है बल्कि जिस्मानी ताक्त भी है ।

तस्वीरें ली गईं ;-२७ सितंबर, २००९
 
गुरुदवारा साहिब, गुगल अर्थ के नकशे पर
 
 
  अधिक जानकारी :-
गुरुदवारा श्री शेर शिकार साहिब

किसके साथ संबंधित है :-
  • श्री गुरु हरगोबिंद साहिब जी

  • पता :-
    गांव मचकुंड
    धोलपुर
    जिला :- धोलपुर
    राज्य :- राजस्थान
    फ़ोन नंबर:- ००९१ ५६४२ २२०६२२
     

     
     
    ItihaasakGurudwaras.com